MP Vyapam

Prathamik_Shikshak_Rulebook_2019-2020                 

MP Vyapam Recruitment मध्यप्रदेश शासन द्वारा      मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल की स्थापना वर्ष 1970 में पूर्व चिकित्सीय परीक्षा बोर्ड(PRE-MEDICAL EXAMINATION BOARD) के रुप में की गई थी । बाद में, पूर्व-इंजीनियरिंग मंडल(PRE-ENGINEERING BOARD) का गठन वर्ष 1981 में किया गया था। इसके पश्चात वर्ष 1982 में इन दोनों मंडलों(Board) को सम्मिलित कर मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल का नाम दिया गया । मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल (जो कि अब MPPEB के नाम से जाना जाता है) को राज्य में विभिन्न महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा संचालित करने का उत्तरदायित्व सौंपा गया है ।

MP VYAPAM भर्तियों के बारे में कैसे जानें 

मध्यप्रदेश व्यवसायिक परीक्षा मण्डल MP Vyapam विभिन्न सरकारी पदों पर भर्तियों के लिए समय समय पर रोजगार समाचार प्रकाशित करता रहता है जिसकी जानकारी व्यापम की ऑफिशियल वेबसाइट       www.peb.mp.gov.in     पर उपलब्ध करायी जाती है, Madhya Pradesh Vyapam द्वारा प्रकाशित रोजगार समाचार की जानकारी आपको हमारी वेबसाइट www.gourinstitute.in पर भी उपलब्ध कराया जाता है अतः इस पेज को बुकमार्क कर लें ताकि भविष्य में व्यापम में निकलने वाली सरकारी भर्तियों की जानकारी आसानी से प्राप्त हो सके।

verg -3  2020   detail  just click on this link

Prathamik_Shikshak_Rulebook_2019-2020         

VYAPAM द्वारा पदों पर की जाने वाली पर भर्तियाँ

  • MP VYAPAM  मध्यप्रदेश व्यापम विभिन्न सरकारी पदों पर भर्तियों का कार्य संपन्न करता है
  • पुलिस कांस्टेबल
  • सब इंस्पेक्टर  (  Police Sub – Inspector )
  • लेबर इंस्पेक्टर( Labour   Inspector)
  • फ़ूड इंस्पेक्टर
  • आंगनवाड़ी सुपरवाइजर
  • संविदा शिक्षक वर्ग 1 (9,10 ,11 th & 12 Standard Teacher Exam),  
  • संविदा शिक्षक वर्ग 2 ( 6th class to 8th Standard Teacher Exam),
  • संविदा शिक्षक वर्ग 3 ( Up to 5th class Standard Teacher Exam),
  • पी.पी.टी.- पॉलटेक्निक डिप्लोमा पाठ्क्रम में प्रवेश परीक्षा
  • पी.ए.टी. प्री-एग्रीकल्चर टेस्ट: बी.टेक(कृषि अभियांत्रिकी), बी.एससी.(कृषि),
  • बी.एससी.(वानिकी), बी.एससी.(उद्यानिकी) एवं बी.एससी.(कृषि एवं उद्यमिता) पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षा
  • जी.एन.टी.एस.टी.- जनरल नर्सिंग प्रशिक्षण; केवल लड़कियों के लिए प्रवेश परीक्षा
  • पी.एन.एस.टी.-बी.एस.सी., नर्सिंग प्रशिक्षण; केवल लड़कियों के लिए प्रवेश परीक्षा
  • पी.ए.एच.यू.एन.टी.-प्री-आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, यूनानी, नैच्यूरापैथी एवं योगा उपाधि पाठ्यक्रम प्रवेश परीक्षा
  • प्री बी.एड.- बैचलर ऑफ एजुकेशन पाठ्यक्रम प्रवेश परीक्षा
  • डी.ए.एच.ई.टी.- डिप्लोमा इन एनीमल हस्बेंडरी प्रवेश परीक्षा
  • पी.व्ही.एण्ड.एफ.टी.- प्री-वेटरीनरी एवं फिशरीज पाठ्यक्रम हेतु प्रवेश परीक्षा
  • एस.ओ.ई.- उत्कृष्ट विद्यालयों में प्रवेश के लिए परीक्षा
  • एस.ओ.एम.-आदर्श विद्यालयों में प्रवेश के लिए परीक्षा

MPPEB इसका परिवर्तित(Changed) नाम है जिसका पूर्ण नाम मध्यप्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (Madhya Pradesh Professional Examination Board) है।

VYAPAM Jobs के लिए आवेदन प्रक्रिया क्या है 

MP Vyapam के लिए आवेदन प्रक्रिया अन्य सरकारी भर्तियों के सामान ही है, सबसे पहले आपको ऑनलाइन आवेदन लिंक पर क्लिक करना है जिससे आवेदन फॉर्म खुल जायेगा, आवेदन फॉर्म में आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारियां भरनी हैं, उसके पश्चात आपको अपना फोटो एवं हस्ताक्षर के फोटो को अपलोड करना रहेगा। इसके पश्चात ऑनलाइन आवेदन शुल्क जमा करना रहेगा, आवेदन शुल्क जमा होने के साथ ही MP Vyapam का फॉर्म भरने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी, भरे गए फॉर्म का प्रिंट आउट लेना ना भूलें।

MP Vyapam में सिलेक्शन कैसे होता है 

व्यापम द्वारा संचालित अधिकाँश परीक्षाओं (MP Vyapam Exams) में चयन सीधे ऑनलाइन परीक्षा में प्राप्त परिणामों के आधार पर हो जाता है, जबकि कुछ ऐसी भी परीक्षाएं हैं जिनमे चयन प्रक्रिया में इंटरव्यू भी शामिल है, अतः जो छात्र व्यापम परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उन्हें ऑनलाइन परीक्षा के साथ साथ इंटरव्यू की भी तैयारी करते रहना चाहिए।

व्यापम परीक्षा से संबंधित नोट(NOTES) एवं अन्य अध्ययन सामग्री हमारी वेबसाइट www.gourinstitute.in  पर उपलब्ध है इसके साथ साथ आप हमारे यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/channel/UCscWZe62bixLK1-ZcYZJB5Q को भी देख सकते हैं

बहुप्रतीक्षित मध्य प्रदेश पुलिस कांस्टेबल परीक्षा का नोटिफिकेशन शीघ्र ही आने वाला है जिसमें लगभग 5000 से अधिक पदों पर 12th पास शारीरिक रूप से सक्षम छात्र-छात्राओं से आवेदन लिए जाएंगे इन की संभावित तिथि 25 अक्टूबर 2019 है इस संबंध में अपने इस लेख में संभावित तिथि और परीक्षा की उल्लेख किया है

MP Police Constable Bharti 2019 20 Important Dates

MP Vyapam Police Constable Recruitment 2019 2020 Notification |

MP Vyapam MP Middle School Teacher TET Result 2019

MP Vyapam MP Middle School Teacher TET Result 2019: MP Vyapam – Madhya Pradesh Professional Examination Board (MPPEB) has announced the Result on 28 Oct 2019 for the exam.
  • Issued on: 28 Oct 2019

Download Result

व्यापमं / पुलिस आरक्षक भर्ती घोटाला: 30 दोषियों को 7-7 साल और दलाल त्यागी को 10 साल की सजा

भोपाल में सभी 31 दोषियों को सीबीआई की विशेष अदालत ने सजा सुनाई है।भोपाल में सभी 31 दोषियों को सीबीआई की विशेष अदालत ने सजा सुनाई है।
  • व्यापमं घोटाले से जुड़े 14वें केस में फैसला, पहली बार सभी आरोपियों को सजा हुई
  • दोषियों में 12 फर्जी परीक्षार्थी और 7 दलाल शामिल, सभी को सेंट्रल जेल भेजा गया
  • व्यापमं के 7 केस में जांच जारी, 143 में चार्जशीट दाखिल, करीब 1000 परीक्षार्थी आरोपी

कीर्ति गुप्ता, भोपाल. व्यापमं की पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा 2013 के मामले में सोमवार को सीबीआई की विशेष अदालत ने अपना फैसला सुनाया। अदालत ने 30 दोषियों को को 7-7 साल, जबकि दलाल प्रदीप कुमार त्यागी को 10 साल की सजा सुनाई। अदालत ने दलाल त्यागी को मुख्य सूत्रधार माना। पिछले सप्ताह (गुरुवार को) सीबीआई की विशेष अदालत ने मामले में सभी 31 आरोपियों को दोषी करार दिया था और आज के लिए फैसला सुरक्षित रख लिया था।

 

मामले में जिन्हें सजा हुई, उसमें 12 परीक्षार्थी, 12 फर्जी परीक्षार्थी (जिन्होंने मुख्य परीक्षार्थियों की जगह परीक्षा दी) और 7 दलाल शामिल हैं। विशेष जज जस्टिस एसबी साहू ने सजा सुनाने के बाद, सभी आरोपियों को भोपाल सेंट्रल जेल भेज दिया। व्यापमं से जुड़े 150 मामलों में से 14वें केस में सोमवार को फैसला आया, लेकिन पहली बार कोर्ट ने सभी आरोपियों को दोषी माना।

अदालत ने इन्हें सुनाई 7-7 साल की सजा 
अदालत ने राहुल पांडे, आशीष कुमार पांडे, कुलविजय, अभिषेक कटियार, सुयश सक्सेना, प्रभाकर शर्मा, नीरज उर्फ टिंकू, अनिल यादव, अजय सांकेरवार, धरमेश साहू, फूलकुंवर, देवेंद्र साहू, अजीत चौधरी, भूपेंद्र सिंह तोमर, संतोष शर्मा, चंद्रपाल कश्यप, पंजाब साहू, रविशंकर, नावीस जाटव, मुकेश साहू, अरुण गुर्जर, उदयभान साहू, दानिश धाकड़, अंतनदर साहू, पृथ्वेंद्र साहू तोमर, सुदीप शर्मा, अजय प्रताप साहू, कल्यानी साहू सिकरवार, गुलवीर सिंह जाट और राजवीर सिंह उर्फ बंटी को 7-7 साल की सजा सुनाई।

सजा का आधार: 450 दस्तावेज, 90 गवाहों के बयान
सीबीआई के विशेष लोक अभियोजक सतीश दिनकर ने बताया कि व्यापमं की यह परीक्षा 15 सितंबर 2013 को हुई थी। गड़बड़ी की शिकायत के बाद भोपाल और दतिया के सेंटरों पर कार्रवाई के दौरान 31 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मामले की जांच एसटीएफ से सीबीआई को सौंपी गई थी। अदालत में 450 से ज्यादा दस्तावेज और 90 गवाहों के बयान लिए गए।

इस तरह पकड़े गए परीक्षा में फर्जीवाड़े के आरोपी
सतीश दिनकर ने बताया कि दोषी परीक्षार्थियों ने फार्म भरते समय, अपनी जगह किसी सॉल्वर से परीक्षा दिलाने का प्लान बनाया था। उन्होंने परीक्षा फार्म में अपने धुंधले फोटो लगाए थे, ताकि पर्यवेक्षक सॉल्वर को पहचान न सकें। जब पर्यवेक्षकों ने परीक्षार्थी के चेहरे से फोटो का मिलान किया, तो गड़बड़ी का खुलासा हुआ। इस मामले में दतिया से 6 और भोपाल से 6 परीक्षार्थी गिरफ्तार हुए, वहीं भोपाल से असली परीक्षार्थियों की जगह परीक्षा दे रहे 12 लोगों की गिरफ्तारी हुई। पूछताछ के बाद, पुलिस ने 7 दलालों को गिरफ्तार किया था। ज्यादातर आरोपी भिंड, मुरैना, दतिया, ग्वालियर, भोपाल और उत्तरप्रदेश के थे।

घोटाले में 170 एफआईआर, 16 मामलों में खात्मा
सीबीआई ने व्यापमं घोटाले में 170 एफआईआर दर्ज की थीं। इनमें से 143 मामलों में चार्जशीट दाखिल हो चुकी है, 7 मामलों की जांच जारी है। संदिग्ध मौतों के 16 मामलों सहित 20 मामलों में खात्मा लगाया जा चुका है। इससे जुड़े केसों में 2500 से ज्यादा लोग आरोपी हैं, जिनमें से करीब 1000 परीक्षार्थी हैं। जुलाई 2015 से सीबीआई इस घोटाले की जांच कर रही है।

 

शिक्षकों की भर्तियां

 

भोपाल। मध्यप्रदेश के स्कूलों में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए अब जल्द ही शिक्षकों की भर्तियां शुरू हो जाएंगी। इसी के चलते वर्ग 1: उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा – 2018 (पुनः परीक्षा) का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है।

इससे पहले वर्ग 1 के अंग्रेजी विषय की पुन: परीक्षा हुई थी, जिसका परिणाम अभी तक घोषित नहीं होने से भर्ती प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ पा रही थी।

दरअसल मध्यप्रदेश पीईबी द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग एवं जनजातिय कार्य के अंतर्गत उच्च माध्यामिक शिक्षक पात्रता परीक्षा-2018 (MP  admit card 2018 exam date ) का आयोजन 01फरवरी 2019 से 11 फरवरी 2019 तक किया गया था।

जिसके बाद वर्ग 1 के अंग्रेजी ( English ) विषय को छोड़कर सभी विषयों का परीक्षा परिणाम बोर्ड द्वारा 28 अगस्त 2019 को घोषित कर दिया गया।

वहीं 2 जुलाई 2019 को परीक्षा संचालन एजेंसी ने बताया था कि 3 फरवरी 2019 को दूसरी पाली में आयोजित अंग्रेजी की परीक्षा में प्रश्न पत्र की मैपिंग में गलती हुई। इसे देखते हुए अंग्रेजी की परीक्षा को निरस्त कर दिया गया।

ऐसे में 29 सितंबर 2019 को अंग्रेजी विषय की परीक्षा का पुन: आयोजन (केवल पूर्व में आयोजित अंग्रेजी विषय की परीक्षा में उपस्थित अभ्यर्थियों के लिए ) किया गया। जिसका परीणाम जारी कर दिया गया है।

बताया जाता है कि इन्हीं परिणामों के जारी नहीं होने के चलते अब तक भर्ती रुकी हुई थी। जबकि पूर्व में सूचना भी कि 1 दिसंबर 2019 से भर्ती की आगे की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। ऐसे में अब भर्ती की आगे की प्रक्रिया से जुड़ी सभी रूकावटें दूर हो जाने से जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू किए जाने की बातें सामने आनी शुरू हो गईं हैं।

सूत्रों के अनुसार अब दिसंबर में भी चयनित उम्मीदवारों की काउंसलिंग होगी जिसमें उनके दस्तावेजों की जांच की जाएगी। वहीं इसी माह च्वाइस फिलिंग का कार्य भी हो जाएगा। इसके लिए जहां पहले कुछ निश्चित संख्या में काउंसलिंग के लिए चयनित उम्मीदवार बुलाए जांएगे।

वहीं इनके साथ ही एक वेटिंग लिस्ट भी तैयारी रखी जाएगी। जिससे यदि किसी जगह पद रिक्त रह जाता है। तो वहां वेटिंग लिस्ट वाले उम्मीदवार को मौका दिया जाएगा।

शिक्षक भर्ती प्रक्रिया…
सामने आ रही जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश में शिक्षकों ( MP Teachers ) की सीधी भर्ती दिसंबर से शुरू होने जा रही है। इससे पहले जो बात आ रही थी उसके अनुसार मध्यप्रदेश शिक्षक ( shikshak bharti 2019 ) पात्रता परीक्षा वर्ग-1 और वर्ग-2 के रिजल्ट के बाद 40 हजार से अधिक शिक्षकों की भर्ती ( teachers joining ) की प्रक्रिया 1 दिसंबर से शुरू होनी थी, लेकिन अब बताया जा रहा है कि अंग्रेजी विषय की पुन: परीक्षा रिजल्ट नहीं आने से भर्ती प्रक्रिया में कुछ ज्यादा समय लग सकता है। खास बात यह है कि 15 जनवरी से पहले ( Madhya Pradesh Teacher Recruitment) अभ्यर्थी को नियुक्ति दे दी जाने की बात भी अब कुछ दिन आगे बढ़ती दिख रही है।

वहीं इससे पहले स्कूल शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों (डीईओ) को पत्र लिखकर जिले में खाली पड़े शिक्षकों के पदों की जानकारी मांगी थी। इसके लिए उन्हें 20 नवंबर तक का समय दिया गया था।

कुल मिलाकर अब शिक्षक भर्ती को लेकर अब करीब अंतिम चरण सामने आ रहा है,ऐसे में कोई भी गलती आपको भारी पड़ सकती है। अत: अंतिम भर्ती चरण में आप अपनी तैयारी पहले से ही पूरी रखें, ताकि किसी भी स्थिति में आपको अस्वीकार नहीं किया जा सके।

सारी दुविधाएं हुईं दूर: अब ये होगा- शिक्षक भर्ती एक नजर में …
शिक्षक भर्ती के तहत अब 20 नवंबर तक स्कूल शिक्षा विभाग दे देगा खाली पदों की जानकारी।
: इसके साथ ही 1 दिसंबर के आसपास विज्ञापन जारी होने के बाद सबसे पहले आपको आॅनलाइन अपने दस्तावेज जमा करने होंगे।
: इन दस्तावेजों को आप 10 दिसंबर तक आॅनलाइन जमा कर सकेंगे। जिसमें आपके रोल नंबर से लेकर सभी वे दस्तावेज शामिल होंगे जो आपने पूर्व में फार्म के साथ जमा किए थे। बताया जाता है यहीं आप जिले की चॉइस फिलिंग भी करेंगे।

: वहीं इसके बाद 2 से 16 दिसंबर तक विभाग आपके इन दस्तावेजों की जांच करेगा।
: जबकि 21 दिसंबर को आॅनलाइन प्राप्त हुए दस्तावेजों के सत्यापन के बाद आवेदनों की चयनित सूची प्रकाशित होगी।
: वहीं 22 से 27 दिसंबर तक आप च्वाइस फीलिंग के तहत अपने चयनित शहर के स्कूलों का चयन करेंगे।

: इसके पश्चात 5 जनवरी 2020 तक चयनित आवेदकों के नियुक्ति आदेश जारी कर दिए जाएंगे। वहीं 15 जनवरी 2020 तक आदेश के आधार पर ज्वाइनिंग करना और सर्विस बुक तैयार करना जरूरी रखा गया है।

चॉइस फिलिंग को ऐसे समझें…
आॅनलाइन होने वाली इस चॉइस फिलिंग में आपको अपनी पसंद के स्कूलों का चयन करना होगा। आपको काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा। यहां ये समझना जरूरी है कि चॉइस फिलिंग के दौरान मेरिट में आए अभ्यर्थियों को ज्यादा महत्व दिया जाएगा।

वहीं मेरिट में पीछे रह जाने वालों को चॉइस फिलिंग में कम प्रिफ्रेंस मिलने की संभावना है। इसका कारण ये है कि जिस शहर के जिस स्कूल को मेरिट में अधिक अंक पाने वाले ने चुना है, उसे इसके लिए ज्यादा महत्व दिया जाएगा। वहीं मेरिट में कम नंबर पाए अभ्यर्थी को यहां मेरिट में अधिक अंक पाने वाले से कम महत्व मिलेगा।

ये दस्तावेज आज ही कर लें तैयार…
चॉइस फिलिंग के बाद होने वाली काउंसलिंग के दौरान आपके दस्तावेजों की जांच की जाएगी। इस दौरान किसी भी प्रकार की गलती मान्य नहीं रहेगी। अत: आपके दस्तावेजों में नाम व जन्मतिथि वहीं अंकित हो जो आपने अपने फॉर्म पर भरी थी।

इसके साथ ही इस भर्ती में आप अपने आरक्षण से जुड़े दस्तावेज भी पूरी तरह से देख लें। आर्थिक आरक्षण वाले भी अपने दस्तावेज तैयार रखें।

ये हैं खास दस्तावेज : इन पेपर्स को तुरंत करें तैयार

जानकारों की मानें तो चयनीत उम्मीदवार वेरिफिकेशन के दौरान काम आने वाले पेपर्स के 3 से 5 बंच बना लें। जो आपके काम आएंगे।

  1. आधार कार्ड।
    2. जाति प्रमाण पत्र।
    3. यदि आरक्षण में हैं तो उससे जुड़े आय प्रमाण पत्र आदि।
    4. मूलनिवासी प्रमाण पत्र।
    5. अपनी समस्त 10वीं, 12वीं, ग्रेजुएशन,पीजी, व अन्य शैक्षणिक मार्कशीट।
    6. पेन कार्ड।
    7. 4 फोटो।
    8. आपका एक्जाम का रोल नंबर।
    9. एडमिट कार्ड।
    10. संविदा शिक्षक रिजल्ट की कॉपी।
    11. अनुभव प्रमाण पत्र।

5 thoughts on “MP Vyapam”

  1. Pingback: GetintoPC - Free Software Download Detailed Review | Tech Everywhere

  2. Pingback: MP RIVER PROJECTS - Gour Institute

  3. Pingback: CURRENT AFFAIRS OCTOBER 22-29 - Gour Institute

  4. Pingback: NEW QUESTIONS AFTER REMOVAL OF ARTICLE 370 - Gour Institute

  5. Pingback: CTET 2019 Answer Key: सीटेट परीक्षा की आंसर-की जल्द होगी जारी - Gour Institute

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: