HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 4

HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 4

 

(ब)

बलराम – हलधर, बलवीर, रेवतीरमण, बलभद्र, हली, श्यामबन्धु।

बाग – उपवन, वाटिका, उद्यान, निकुंज, फुलवाड़ी, बगीचा।

बन्दर – कपि, वानर, मर्कट, शाखामृग, कीश।

बट्टा – घाटा, हानि, टोटा, नुकसान।

बलिदान – कुर्बानी, आत्मोत्सर्ग, जीवनदान।

बंजर – ऊसर, परती, अनुपजाऊ, अनुर्वर।

बिछोह – वियोग, जुदाई, बिछोड़ा, विप्रलंभ।

बियावान – निर्जन, सूनसान, वीरान, उजाड़।

बंक – टेढ़ा, तिर्यक्, तिरछा, वक्र

बहुत – ज़्यादा, प्रचुर, प्रभूत, विपुल, इफ़रात, अधिक।

बुद्धि – प्रज्ञा, मेधा, ज़ेहन, समझ, अकल, गति।

ब्रह्मा – विधि, चतुरानन, कमलासन, विधाता, विरंचि, पितामह, अज, प्रजापति, स्वयंभू।

बादल – मेघ, पयोधर, नीरद, वारिद, अम्बुद, बलाहक, जलधर, घन, जीमूत।

बाल – केश, अलक, कुन्तल, रोम, शिरोरूह, चिकुर।

बिजली – तड़ित, दामिनी, विद्युत, सौदामिनी, चंचला, बीजुरी।

बसंत – ऋतुराज, ऋतुपति, मधुमास, कुसुमाकर, माधव।

बाण – तीर, तोमर, विशिख, शिलीमुख, नाराच, शर, इषु।

बारिश – पावस, वृष्टि, वर्षा, बरसात, मेह, बरखा।

बालिका – बाला, कन्या, बच्ची, लड़की, किशोरी।

HINDI SYNONYMS PARYAVACHI 2020-2021 PART 2

HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 4

(भ)

भगवान – परमेश्वर, परमात्मा, सर्वेश्वर, प्रभु, ईश्वर।

भगिनी – दीदी, जीजी, बहिन

भारती – सरस्वती, ब्राह्मी, विद्या देवी, शारदा, वीणावादिनी।

भाल – ललाट, मस्तक, माथा, कपाल।

भरोसा – सहारा, अवलम्ब, आश्रय, प्रश्रय।

भास्कर – चमकीला, आभामय, दीप्तिमान, प्रकाशवान।

भुगतान – भरपाई, अदायगी, बेबाकी।

भोला – सीधा, सरल, निष्कपट, निश्छल।

भूखा – बुभुक्षित, क्षुधातुर, क्षुधालु, क्षुधात।

भँवरा – भ्रमर, ग, मधुकर, मधुप, अलि, द्विरेफ।

भाई – अग्रज, अनुज, सहोदर, तात, भइया, बन्धु।

भाँड – विदूषक, मसखरा, जोकर।

भिक्षुक – भिखमंगा, भिखारी, याचक

HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 3 2020

 

HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 4

(म)

मछली – मीन, मत्स्य, सफरी, झष, जलजीवन।

मज़ाक – दिल्लगी, उपहास, हँसी, मखौल, मसखरी, व्यंग्य, छींटाकशी।

मदिरा – शराब, हाला, आसव, मद्य, सुरा।

महादेव – शंकर, शंभू, शिव, पशुपति, चन्द्रशेखर, महेश्वर, भूतेश, आशुतोष, गिरीश

मक्खन – नवनीत, दधिसार, माखन, लौनी।

मंगनी – वाग्दान, फलदान, सगाई।

मनीषी – पण्डित, विचारक, ज्ञानी, विद्वान्।

मुँह – मुख, आनन, बदन।

मित्र – सखा, दोस्त, सहचर, सुहृद।

माँ – मातु, माता, मातृ, मातरि, मैया, महतारी, अम्ब, जननी, जनयित्री, जन्मदात्री।

मेघ – धराधर, घन, जलचर, वारिद, जीमूत, बादल, नीरद, पयोधर, जगलीवन, अम्बुद।

मैना – सारिका, चित्रलोचना, कलहप्रिया।

मंथन – बिलोना, विलोड़न, आलोड़न।

महक – परिमल, वास, सुवास, खुशबू, सुगंध, सौरभ।

मृत्यु – देहावसान, देहान्त, पंचतत्वलीन, निधन, मौत, इंतकाल।

माँझी – मल्लाह, नाविक, केवट।

माया – छल, छलना, प्रपंच, प्रतारणा।

माधुरी – माधुर्य, मिठास, मधुरता।

मानव – मनुज, मनुष्य, मानुष, नर, इंसान।

मोती – सीपिज, मौक्तिक, मुक्ता, शशिप्रभा।

मेंदकं – दादुर, दर्दुर, मण्डूक, वर्षाप्रिय, भेका

मोर – मयूर, नीलकण्ठ, शिखी, केकी, कलापी।

मोक्ष – मुक्ति, निर्वाण, कैवल्य, परमधाम, परमपद, अपवर्ग, सदगति।

मंदिर – देवालय, देवस्थान, देवगृह, ईशगृह।

मधु – शहद, बसंत–ऋत. भसमासव, मकरंद, पुष्पासव।

 

Leave a Comment