HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 3 2020

 

HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 3     -2020

नदी – सरिता, दरिया, अपगा, तटिनी, सलिला, स्रोतस्विनी, कल्लोलिनी, प्रवाहिणी।

नमक – लवण, लोन, रामरस, नोन।

नया – ‘नवीन, नव्य, नूतन, आधुनिक, अभिनव, अर्वाचीन, नव, ताज़ा।

नाश – (i) समाप्ति, अवसान (i) विनाश, संहार, ध्वंस, नष्ट–भ्रष्ट।

नित्य – हमेशा, रोज़, सनातन, सर्वदा, सदा, सदैव, चिरंतन, शाश्वत।

नियम – विधि, तरीका, विधान, ढंग, कानून, रीति।

नीलकमल – इंदीवर, नीलाम्बुज, नीलसरोज, उत्पल, असितकमल, कुवलय, सौगन्धित।

नौका – तरिणी, डोंगी, नाव, जलयान, नैया, तरी।

नारी – स्त्री, महिला, रमणी, वनिता, वामा, अबला, औरत।

निन्दा – अपयश, बदनामी, बुराई, बदगोई।

नैसर्गिक – प्राकृतिक, स्वाभाविक, वास्तविक

नरेश – नरेन्द्र, राजा, नरपति, भूपति, भूपाल

निष्पक्ष – उदासीन, अलग, निरपेक्ष, तटस्थ।

नियति – भाग्य, प्रारब्ध, विधि, भावी, दैव्य, होनी।

नक्षत्र – तारा, सितारा, खद्योत, तारक

नाग – सर्प, विषधर, भुजंग, व्याल, फणी, फणधर, उरग।

नग – भूधर, पहाड़, पर्वत, शैल, गिरि।

नरक – यमपुर, यमलोक, जहन्नुम, दौजख।

निधि – कोष, खज़ाना, भण्डार।

नग्न – नंगा, दिगम्बर, निर्वस्त्र, अनावृत।

नीरस – रसहीन, फीका, सूखा, स्वादहीन।

नीरव – मौन, चुप, शान्त, खामोश, निःशब्द।

निरर्थक – बेमानी, बेकार, अर्थहीन, व्यर्थी

निष्ठा – श्रद्धा, आस्था, विश्वास

निर्णय – निष्कर्ष, फ़ैसला, परिणाम।

निष्ठुर – निर्दय, निर्मम, बेदर्द, बेरहमा

HINDI PARYAVACHI SYNONYMS PART 3     -2020

(प)

पत्थर – पाहन, प्रस्तर, संग, अश्म, पाषाण।

पति – स्वामी, कान्त, भर्तार, बल्लभ, भर्ता, ईश।

पत्नी – दुलहिन, अर्धांगिनी, गृहिणी, त्रिया, दारा, जोरू, गृहलक्ष्मी, सहधर्मिणी, सहचरी, जाया।

पथिक – राही, बटाऊ, पंथी, मुसाफ़िर, बटोही।

पण्डित – विद्वान्, सुधी, ज्ञानी, धीर, कोविद, प्राज्ञा

परशुराम – भृगुसुत, जामदग्न्य, भार्गव, परशुधर, भृगुनन्दन, रेणुकातनय।

पर्वत – पहाड़, अचल, शैल, नग, भूधर, मेरू, महीधर, गिरि।

पवन – समीर, अनिल, मारुत, वात, पवमान, वायु, बयार।

पवित्र – पुनीत, पावन, शुद्ध, शुचि, साफ़, स्वच्छ

पार्वती – भवानी, अम्बिका, गौरी, अभया, गिरिजा, उमा, सती, शिवप्रिया।

पिता – जनक, बाप, तात, गुरु, फ़ादर, वालिद।

पुत्र – तनय, आत्मज, सुत, लड़का, बेटा, औरस, पूता

परिणय – शादी, विवाह, पाणिग्रहण।

पूज्य – आराध्य, अर्चनीय, उपास्य, वंद्य, वंदनीय, पूजनीय।

पुत्री – तनया, आत्मजा, सुता, लड़की, बेटी, दुहिता।

पृथ्वी – वसुधा, वसुन्धरा, मेदिनी, मही, भू, भूमि, इला, उर्वी, ज़मीन, क्षिति, धरती, धात्री।

प्रकाश – चमक, ज्योति, द्युति, दीप्ति, तेज़, आलोक।

प्रभात – सवेरा, सुबह, विहान, प्रातःकाल, भोर, ऊषाकाला

प्रथा – प्रचलन, चलन, रीति–रिवाज़, परम्परा, परिपाटी, रूढ़ि।

प्रलय – कयामत, विप्लव, कल्पान्त, गज़ब

प्रसिद्ध – मशहूर, नामी, ख्यात, नामवर, विख्यात, प्रख्यात, यशस्वी, मकबूला

प्रार्थना – विनय, विनती, निवेदन, अनुरोध, स्तुति, अभ्यर्थना, अर्चना, अनुनय।

प्रिया – प्रियतमा, प्रेयसी, सजनी, दिलरुबा, प्यारी।

प्रेम – प्रीति, स्नेह, दुलार, लाड़–प्यार, ममता, अनुराग, प्रणय।

पैर – पाँव, पाद, चरण, गोड़, पग, पद, पगु, टाँग

प्रभा – छवि, दीप्ति, द्युति, आभा।

पंथ – राह, डगर, पथ, मार्ग।

परतन्त्र – पराधीन, परवश, पराश्रित।

परिवार – कुल, घराना, कुटुम्ब, कुनबा।

परछाई – प्रतिच्छाया, साया, प्रतिबिम्ब, छाया, छवि।

पक्षी – विहग, निहंग, खग, अण्डज़, शकुन्त।

पल – क्षण, लम्हा, दमा

पश्चात्ताप – अनुताप, पछतावा, ग्लानि, संताप।

पाश – जालबंधन, फंदा, बंधन, जकड़न।

पराग – रंज, पुष्परज, कुसुमरज, पुष्पधूलि।

परिवर्तन – क्रांति, हेर–फेर, बदलाव, तब्दीली।

पड़ोसी – हमसाया, प्रतिवासी, प्रतिवेशी।

पुरातन – प्राचीन, पूर्वकालीन, पुराना।

पूजा – आराधना, अर्चना, उपासना।

प्रकांड – अतिशय, विपुल, अधिक, भारी।।

प्रज्ञा – बुद्धि, ज्ञान, मेधा, प्रतिभा।

प्रचण्ड – भीषण, उग्र, भयंकर।

प्रणय – स्नेह, अनुराग, प्रीति, अनुरक्ति।

प्रताप – प्रभाव, धाक, बोलबाला, इकबाल।

प्रतिज्ञा – प्रण, वचन, वायदा।

प्रेक्षागार – नाट्यशाला, रंगशाला, अभिनयशाला, प्रेक्षागृह।

प्रौढ़ – अधेड़, प्रबुद्ध।

पल्लव – किसलय, घर्ण, पत्ती, पात, कोपल, फुनगी।

पांडुलिपि – हस्तलिपी, मसौदा, पांडुलेख।

फणी – सर्प, साँप, फणधर, नाग, उरग।

फ़ौरन – तत्काल, तत्क्षण, तुरन्ता

फूल – सुमन, कुसुम, गुल, प्रसून, पुष्प, पुहुप, मंजरी, लतांता

फौज़ – सेना, लश्कर, पल्टन, वाहिनी, सैन्य।

फणीन्द्र – शेषनाग, वासुकी, उरगाधिपति, सर्पराज, नागराज।

Leave a Comment